कल्याणपुर क्षेत्र में बीती रात एक पत्रकार के साथ हुए विवाद की शिकायत करने पहुंचे अन्य साथी पत्रकारों के साथ क्षेत्रीय दबंगों ने अभद्रता, गाली गलौज एवं मारपीट की व पथराव भी किया था. इस घटना के विरोध में आज दर्जनों पत्रकारों ने ऑल इंडियन रिपोर्टर एसोसिएशन के बैनर तले एकत्रित होकर कानपुर के DIG/SSP से मुलाकात की और बीती रात हुए प्रकरण से अवगत कराया। DIG/SSP द्वारा मामले की जांच पुलिस अधीक्षक पश्चिम को दी गई है.

बताते चलें बीती रात दैनिक देश मोर्चा अखबार में कार्यरत वीरेंद्र शर्मा के साथ कल्याणपुर के रहने वाले दबंग संजय और उसके कई अन्य साथियों ने मारपीट की थी। पत्रकार वीरेंद्र शर्मा की दाईं आंख पर तमंचे की बट से हमला करते हुए उनको चोटिल कर दिया गया था। दबंग के अन्य साथियों ने पत्रकार को चाकू व लाठी-डंडों से जान से मारने का प्रयास किया पर शोर शराबा सुन कर एकत्र हुये राहगीरों की मदद से पत्रकार वीरेंद्र शर्मा की जान बच सकी। घटना की सूचना अन्य पत्रकार साथियों को जैसे ही मिली तो धीरे-धीरे कल्याणपुर थाने में पत्रकारों का जमावड़ा लगने लगा। काफी देर तक सुनवाई न होने और थाना प्रभारी के ना आने पर समस्त पत्रकार साथी थाने में ही धरने पर बैठ गए और उक्त दबंग व अन्य साथियों को पकड़ने की मांग करने लगे। घटना के तकरीबन तीन घंटे बाद जब थाना प्रभारी मौके पर पहुंचे तो उनके पीछे पीछे आरोपी की पैरवी में क्षेत्र के कई अन्य दबंग भी थाने में आ गये। पीडित वीरेन्‍द्र शर्मा का आरोप है कि उक्‍त दबंग जबरन पत्रकारों से उलझने व गाली-गलौज करने लगे और जब तक पत्रकार कुछ समझ पाते तब तक थाना प्रभारी अजय सेठ के मूक समर्थन से उक्‍त दबंगों ने पत्रकारों के साथ गाली-गलौज व मारपीट करना प्रारम्‍भ कर दिया। यही नहीं दबंगों ने रेलवे लाइन पर पडे पत्‍थरों से पत्रकारों पर पथराव करना शुरू कर दिया।

हैरत की बात तो यह रही यह सारी घटना थाना प्रभारी कल्याणपुर अपनी आंखों से मौन बनकर देखते रहे । दबंग थाने में ही अपनी दबंगई का खुला नजारा पत्रकारों पर दिखाते रहे। वहीं इस संदर्भ में पूछने पर कल्‍यानपुर थाना प्रभारी अजय सेठ ने बताया कि पीडित वीरेन्‍द्र शर्मा की तहरीर पर 323, 504, 506 आईपीसी के तहत केस दर्ज करके आरोपी की गिरफ्तारी कर ली गई है। पुलिस पर लगाये गये बाकी आरोप गलत हैं। पुलिस कानून के दायरे में अपना काम कर रही है।

जानकारी के अनुसार पत्रकारों ने आज घटना की शिकायत कानपुर के डीआईजी/एसएसपी प्रीतिन्‍दर सिंह से की तो न्‍यायप्रि‍य डीआईजी द्वारा घटना का तत्‍काल संज्ञान लिया गया। उन्‍होंने मामले की जांच पुलिस अधीक्षक पश्चिम को दी और साथ ही साथ समस्त पत्रकार बंधुओं को आश्वासन दिया कि घटना की निष्पक्ष जांच कराकर दोषियों के खिलाफ उचित कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

वरदान इंडिया न्यूज की खबर सबसे पहले अपने मोबाइल पर पाने हेतु आज ही चैनल को लाइक व सब्सक्राइब करें ताकि आपको हमारी न्यूज सबसे पहले मिल सके!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here