सामूहिक दुष्कर्म का विरोध करने पर दरिंदों ने तेजाब से नाबालिग लड़की को नहलाया

bhagalpur जिले के  अलीगंज में शुक्रवार की शाम सामूहिक दुष्कर्म में असफल रहने पर चार दरिंदों ने नाबालिग छात्रा (17) को तेजाब से नहला दिया। छात्रा को गंभीर हालत में मायागंज अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने शक के आधार पर पड़ोसी प्रिंस कुमार और उसके भाई सौरभ को हिरासत में लिया है।  

बिहार: सामूहिक दुष्कर्म का विरोध करने पर दरिंदों ने नाबालिग लड़की को तेजाब से नहलाया

छात्रा की मां ने बताया कि वह बेटी के साथ खाना बना रही थी। तभी कुछ बदमाश मुंह को कपड़े से ढके घर में आ धमके। सभी हथियारों से लैस थे। एक बदमाश ने उनकी कनपटी में हथियार सटा दिया और बेटी को खींचकर ले जाने लगे।जब बेटी और उन्होंने इसका विरोध किया तो एक युवक ने गाली-गलौज करते हुए बेटी को तेजाब से नहला दिया। बदमाशों ने उन पर भी तेजाब फेंका और हथियार लहराते हुए छत की तरफ भाग गए। बेटी छटपटाते हुए हॉल में जाकर गिर गई। 


छात्रा के चिल्लाने की आवाज सुनकर दौड़े लोग – एसिड के हमले में बुरी तरह झुलसी छात्रा जोर-जोर से मदद के लिए चिल्लाने लगी। उसकी आवाज सुनकर आसपास से काफी संख्या में लोग घर के बाहर जमा हो गए। धक्का देने के बाद छात्रा की मां ने दरवाजा खोला। लोगों ने देखा कि छात्रा हॉल के फर्श पर गिरकर तड़प रही थी। यह देख लोगों ने उसे उठाने का प्रयास किया लेकिन हाथ लगाते ही त्वचा उतरनी लगी। इसके बाद वहां मौजूद महिलाओं ने काफी संभल कर छात्रा को प्लास्टिक की कुर्सी पर बैठाया। कुर्सी सहित उसे वाहन से मायागंज अस्पताल लेकर पहुंचे। घर से भागते समय बदमाशों का एक कट्टा किचन में ही छूट गया। जबकि छत के मुख्य रास्ते पर प्लास्टिक का एक थैला मिला। थैले में रूमाल था। जानकारी मिलते ही बबरंगज थाना पुलिस घटनास्थल पर पहुंची। मामले की जांच के लिए पहुंचे सिटी एसपी सुशांत कुमार सरोज और सिटी डीएसपी राजवंश सिंह ने घर वालों से घटना के बारे में पूरी जानकारी ली। साथ ही आसपास के लोगों से भी पूछताछ की।

लड़की के पिता की अलीगंज में सोने-चांदी की दुकान है। जिस समय घटना घटी उस समय उसके पिता दुकान पर थी। छात्रा के दो छोटे भाई हैं।
पीडि़त छात्रा इंटर में पढ़ती है।
जब एसिड पीडि़ता को इलाज के लिए मायागंज अस्पताल में भर्ती कराया गया तो वहां की हालत बुरी थी। इतना गंभीर मामला होने के बाद भी पीडि़ता को घंटों बेड के लिए जूझना पड़ा। उसे स्ट्रेचर पर ही परिजन लेकर घंटों खड़े रहे। एसिड के हमले में छात्रा की मां भी घायल हुई है। उनका बायां कंधा एसिड पडऩे से झुलस गया है। बावजूद इसके वो अपनी घायल बेटी को अस्पताल में पंखा झेलती रही। बेटी बार बार मां से पानी मांगते हुए कह रही थी, कि चेहरा सहित पूरे शरीर में जलन हो रही है।
एसिड हमले में घायल छात्रा की हालत गंभीर बनी हुई है। चिकित्सकों के मुताबिक वह 50 फीसद तक झुलस गई है। उसका चेहरा बुरी तरह एसिड के कारण झुलसा हुआ है। इलाज के समय भी वह दर्द से चिल्ला रही थी। हालांकि चिकित्सकों ने उसे तत्काल जरूरी दवाइयां और मरहम लगाकर पट्टी कर दी थी। लेकिन परिजन उसे बाहर ले जाने के विकल्प पर भी डॉक्टरों से बात कर रहे थे। अस्पताल की कुव्यवस्था के कारण परिजनों में भी काफी आक्रोश था।

एसिड से हमला मामले में दो लोगों को संदेह पर पकड़ा गया है। अन्य बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए सिटी डीएसपी के नेतृत्व में विशेष जांच दल (एसआइटी) का गठन किया गया है। मैं खुद घटना की निगरानी कर रहा हूं। दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा – आशीष भारती, एसएसपी भागलपुर

 

Share This:-

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *