देश मे बच्चो के प्रति बढ़ रहे बाल अपराध व बाल शोषण की रोकथाम के लिए प्रत्येक जनपद के 18 वर्ष से नीचे के बच्चो को निशुल्क जागरूक करने का लक्ष्य – संस्था प्रमुख

September 22, 2021 by 3 Comments

देश मे बच्चो के प्रति बढ़ रहे बाल अपराध व बाल शोषण की रोकथाम के लिए प्रत्येक जनपद में निम्नतम दस हजार बच्चो को निशुल्क जागरूक करने का लक्ष्य – संस्था प्रमुख !
कानपुर यूपी से 12 वर्षो से निशुल्क कृषि संरक्षण /जैविक कृषि /पर्यावरण संरक्षण / स्वास्थ्य संरक्षण / स्वरोजगार प्रशिक्षण /जैसे अनेको सरकारी /गैर सरकारी जागरुक्ता कार्यक्रम संचालित कर रही स्वयंसेवी संस्था कृषि हरियाली समाज कल्याण समिति ने देश में बढ़ रहे बाल अपराध की रोकथाम हेतु अब बाल सुरक्षा जागरूकता कार्यक्रम संचालित कर चुकी है जिससे देश और समाज का भविष्य अर्थात बच्चो के अपराध पर अंकुश लग सके और देश से बाल अपराध को रोका जा सके! आज कानपुर रामादेवी से इस अभियान की शुरुआत की गई!
आज देश में कुछ अराजक तत्वों की घटिया सोच के कारण तथा हमारे बच्चो की सुरक्षा व जागरूकता के अभाव में आये दिन बाल शोषण की घटनाये बढ़ रही है जिसमे ज्यादातर 18 वर्ष से कम आयु के बच्चे बाल शोषण का शिकार हो रहे है जिसका प्रमुख कारण बच्चो में जागरूकता का आभाव है हमारे देश की रिपोर्ट के मुताबिक हर दिन लगभग पांच बच्चे बाल शोषण की वजह से मौत का शिकार होते हैं। इसके अलावा प्रत्येक 3 लड़कियों में से 1 लड़की और प्रत्येक 4 लड़कों में से 1 लड़का 18 साल से कम उम्र में बाल शोषण का शिकार होता है। लड़के (48.5%) और लड़कियां (51.2%) लगभग एक ही दर से शिकार बनते हैं। इस अपराध की रोकथाम के लिए स्वयंसेवी संस्था कृषि हरियाली समाज कल्याण समिति कानपूर द्वारा सम्पूर्ण उत्तरप्रदेश में अपने कार्यकारिणी सदस्यों व सहयोगी संस्थानों के द्वारा विद्यालय, पार्क, रोड, पंचायत सभी जगह बच्चो को निशुल्क बाल शोषण की रोकथाम व बच्चो की सुरक्षा के लिए जगह जगह जागरूक करेगी जिसकी शुरुवात आज कानपूर रामादेवी से की गयी है ! इस मुहीम में भाग लेने हेतु संस्था प्रमुख एम डी शर्मा ने भारत के सभी स्वयंसेवी संस्थाओ से अनुरोध किया है की समाज और देश से बाल शोषण को समाप्त करना बहुत ही आवश्यक है इसलिये सभी सामाजिक संस्थाए अपने अपने स्तर से इस अपराध को समाप्त करने हेतु एक मुहीम चलाये जिसमे सभी संस्थाए अपने अपने जनपद से शासन प्रशासन से मदद लेकर कार्य करे ! हमारा देश और समाज बच्चो से ही बनता है आज के बच्चे ही कल का भविष्य है इनको सुरक्षित रखना हम सबके लिए बहुत ही आवश्यक है जो संस्थाए हमारे साथ इस बाल शोषण के खिलाफ कार्य करेगी उनको संस्था द्वारा अनुदान की व्यवस्था भी की जा सकती है ! कोई भी नई-पुरानी सामाजिक संस्था या सामाजिक कार्यकर्ता हमारे साथ जुड़कर इस महा अभियान का हिस्सा बन सकता है ! संस्था प्रमुख श्री शर्मा ने बताया कि आज समाज में बाल शोषण की घटनाये दिन प्रतिदिन बढती जा रही है जिसमे बच्चो का शारीरिक शोषण, मानसिक शोषण, यौन शोषण, भावात्मक शोषण, चिकित्षक शोषण एवं बाल उपेक्षा शामिल है आज की भागदौड़ भरी जिन्दगी में माता पिता बच्चो का ध्यान नही दे पाते है जिसके चलते संस्कार और सुरक्षा की जानकारी का अभाव लुप्त होता जा रहा है हमें बच्चो को सिखाना है कि वो कैसे अपने आप को सुरक्षित रख सकते है और किसी के लालच और चापलूसी को अपने विवेक से समझ कर सुरक्षित रह सकते है हम 18 वर्ष के नीचे आयु वर्ग के बच्चो को जागरूक करने की सपथ ले चुके है अगर हमारे इस जागरूकता अभियान से बाल अपराधो में 10 प्रतिशत भी कमी होती है तो हम अपने अभियान की मेहनत को सार्थक समझेगे ! हमारी सरकार को भी इस बाल संरक्षण की ओर ध्यान देना चाहिए हमारे विचार से सरकार को ही नही बल्कि शासन – प्रशासन के साथ साथ हर वर्ग के लोगो व प्रत्येक संस्था को इस अभियान में अपने अपने स्तर से सामाजिक /आर्थिक/मानवीय /व्यावहारिक सहयोग करना चाहिए ! इस महा अभियान में अलग अलग जनपदों में कृषि हरियाली समाज कल्याण समिति, के साथ साथ आईना आर्गेनाइजेशन, कात्यायनी चैरिटेबल ट्रस्ट, आसरा, अनमोल उपहार सेवा फाउन्डेशन, सोशल एक्शन ग्रुप ऑफ़ अचीवमेंट(सागर सोसाइटी), या ख्वाजा मोईनुद्दीन चिस्ती सेवा संस्थान, फैयाज फलानी फाउन्डेशन, पहल फाउन्डेशन, नेशनल मीडिया प्रेस क्लब, चन्दन ग्रामोद्योग समिति तथा मीडिया पार्टनर के रूप में वरदान इंडिया न्यूज़ ने सपथपूर्वक इसकी शुरुवात कर दी है ! बच्चो की सुरक्षा हेतु हम आपके साथ है कृपया अपने क्षेत्र में किसी भी प्रकार की बाल सुरक्षा/बाल अपराध रोकथाम व बच्चो के सहयोग हेतु आप हमें तत्काल 9450122592 पर संपर्क कर सकते है हमारा संस्थान हर प्रकार से यथासंभव बच्चों की मदद करेगा !
यह प्रोजेक्ट India Against child Abuse के नाम से संचालित किया गया है जिसमे कोइ भी पंजीकृत सामाजिक नयी-पुरानी स्वयंसेवी संस्था एक प्रोग्राम मे 300 बच्चो को 3 महीने के अंदर जागरूक करने की सपथ लेगी उसे प्रतिमाह निम्नतम 100 बच्चो को 15 अलग अलग स्थानो एवं अलग अलग 18 वर्ष से नीचे के बच्चो को बाल सुरक्षा हेतु जागरूक करना है प्रोजेक्ट पूर्ण होने पर किया गया खर्च एक मानक के अनुसार अनुदान सहयोग राशि के रूप मे संस्थानो को दिया जाना प्रस्तावित है! जागरूकता मे तेजी लाने हेतु प्रतिदिन शोसल मीडिया पर फोटो, वीडिओ शेयर करना होगा ताकि लोगों में जागरूकता बढ सके और अपराध मे अंकुश लग सके !
इस अभियान में प्रमुख रूप से समाजसेवी अमित कुमार, शेरबहादुर सिंह, लतीत कुमार, राहुल कुशवाहा, इमरान, कैसर आलम, कैलास कुमार, चन्दन सिंह, अवधेश कुमार, नरेन्द्र सिंह, पवन सिंह, रणवीर सिंह, राजेन्द्र विश्वकर्मा, आशीष राजपूत, अजय कुमार, गायत्री, स्मृति देवी, रचना सिंह ने बाल शोषण अपराध समाप्त करने में संस्था व बच्चो का सहयोग करने की सपथ ली!

Share This:-

3 Replies to “देश मे बच्चो के प्रति बढ़ रहे बाल अपराध व बाल शोषण की रोकथाम के लिए प्रत्येक जनपद के 18 वर्ष से नीचे के बच्चो को निशुल्क जागरूक करने का लक्ष्य – संस्था प्रमुख”

  1. * People Community Development Society *

    Programs 2021 to 2022.
    ————————————————-

    Work fields:

    Health, Water / Sanitation, Environment / Pollution / Recycling / Sustainable Development / Biodiversity, Education / Literacy, Rural Development, Slum, Tribal Affairs (ST), Youth Affairs / Adolescence, Retirement, Disability, Children, Self Help Groups / Microfinance, Advocate / Awareness, Social Welfare / Poverty / Humanist, Women

    Current Activities:

    Most Important Program covid 19 We have successfully completed the first phase and the second phase of the program and are preparing for the second phase.
    Works with the goal of protecting the environment, education, health and family welfare, women’s development and empowerment and water resources.

    1) Organizing a health camp, recharging well.

    2) Tree planting: Focus on domestic tree planting to maintain biodiversity.

    3) Education: a) Pre-education: Provide pre-education to children in slums, semi-rural areas, tribal settlements etc. Tribal residence etc. c) Formal education: To provide literacy to the slum elderly, semi-rural, tribal residence, street school program, etc., street -School program, financial empowerment of self-help groups, promotion of rainwater harvesting, educational program on biodiversity.

    4) Events: a) Organizes cycling and running programs in various regions and regions. b) Displays seminars, poster making, nature painting, speech competition on wildlife conservation, wildlife film global-warming, nature camps for students, etc. to provide nature education and create awareness among the participants.

    * People’s Association Development Association *

    President

  2. Leatha says:

    Everyone loves it when
    folks come together and share views.
    Great site, continue the good work! http://lgsksc.cn/space-uid-123388.html

  3. Marjorie says:

    I love it whenever people get together and share ideas.

    Great blog, continue the good work! http://learn.medicaidalaska.com/UserProfile/tabid/42/UserID/5838850/Default.aspx

Leave a Comment

Your email address will not be published.